अनुमंडल के अतिक्रमणकारियों के बीच कहीं खुशी कहीं गम !

2748

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर : नगर पंचायत क्षेत्र के स्टेशन चौक से लेकर डाकबंगला चौक तक स्थानिय प्रशासन द्वारा प्रायोजित अतिक्रमण हटाओ अभियान से यहां के लोगो में कही खुशी तो कहीं गम का माहौल नजर आ रहा है। स्थानिय प्रशासन ने अतिक्रमणकारियो को किसी भी सुरत में नही बक्सने के अपने अडिग फैसला की हवा एक दिन में ही निकल गई। वुधवार को सुबह अभियान की शुरूआत डंडाधिकारी व बड़ी संख्या में पुलिसबल के तैनाती के साथ की गई पहला दिन डाकबंगला चौक से शर्मा चौक तक ही बुलडोजर चलाया गया। शाम में लोगों को लगा कि बाकी का काम दुसरे दिन किया जायेगा लेकिन दुसरे दिन अभियान नही चला।koshixpress

  • प्रथम दिन अतिक्रमण हटाने के बाद दुसरे दिन नही हुआ अतिक्रमण हटाने का कार्य

क्या प्रशासन की मंसा अतिक्रमण हटाने की थी 

एक दिन ही अतिक्रमण अभियान चला कर बंद कर देने के बाद आमलोगो के बीच यह चर्चा का विषय बन गया है की सही में प्रशासन की मंसा अतिक्रमण हटाने का है। आमलोगो का कहना है कि अगर प्रशासन की मंसा अतिक्रमण हटाने की थी तो अभियान की शुरूआत जहां अतिक्रमण थी वहां से क्यो नही किया गया। डाकबंगला से शर्मा चौक तक अतिक्रमण से क्या सड़क पर जाम लगती थी।

मुख्य बाजार का अतिक्रमण मुंह चिढ़ा रहा है

अतिक्रमण पर हाय तौबा मचाने के बाद भी मुख्य बाजार का अतिकर्मण राबण की तरह मुंह चिढ़ा रहा है मानो ये कह रहा है की दम है तो हटा के देखो। कुछ लोगों ने नाम नही लिखने की शर्त पर कहा कि स्थानिय प्रशासन के लोग बड़े लोगो से मिलीभगत किये हुये है। स्थानिय प्रशासन की मंसा ही नही है अतिक्रमण हटाने की ।सरकार के दवाव के कारण दिखाने के लिये हो हल्ला कर रिपोर्ट अतिक्रमण हटाने का भेज दिया जा रहा है।koshixpress

  • मुख्य बाजार का अतिक्रमण रावण की तरह मुंह बाये है खड़ा

अभियान की शुरूआत स्टेशन चौक से क्यो नही

जिनका अभियान में नुकसान हुआ उनलोगो का कहना है की जब अतिक्रमण से आये दिन जाम मुख्य बाजार में लगती थी दिन ब दिन सड़क सिकुर कर तंग हो रही है स्थानिय प्रशासन ने जानबुझ कर बाजार से अभियान नही शुरू किया क्योकि उसकी मंसा ही सही नही थी।

छठ के बाद होगी पुन: अभियान 

स्थानीय प्रशासन का कहना है कि सिर्फ एक दिन का अभियान था पुन: छठ पर्व के बाद की जायेगी। जितना एक दिन में हो सका किया गया।