पहली बार अंग्रेजी शराब के खेप पकड़ाने से मची खलबली !

3001

बरामद मोबाईल का सीडीआर से खंगाला जा सकता है गिरोह के सरगना को
सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर : मंगलवार देर रात्रि जब डीएसपी के नेतृत्व में रेलवे स्टेशन पर छापेमारी कर शराब व तस्करी में सामिल तीन लोगो को हिरासत में लिया तभी से सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र में शराब तस्करी में शामिल लोगो के बीच हड़कंप मच गया। देर रात से लेकर सुबह तक कई सफेदपोश नेताओं से लेकर पुलिस के निकट दलाली करने वाले सेटिंग गेटिंग में लग गये लेकिन इन लोगो की दाल डीएसपी व बख्तियारपुर थानाध्यक्ष के बीच नही गली।लोगो के बीच शराब बरामदगी के चर्चे दिन भर होते रहा। चुकिं सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल क्षेत्र में शराबबंदी के बाबजूद रसूकदार लोगों के बीच उंची किमत में हमेशा शराब परोसा जा रहा था।वही इस कारोबार में कई रसूकदार के कुदनें से यह कारोबार दिन दुगूनी रात चौगूनी फल फूल रहा था। इसका कुछ श्रेय तबादला हो चुके थानेदार को भी जाता था।अब जब नये थानाध्यक्ष व डीएसपी की जुगलबंदी ने शराब तस्करी पर निशाना शाध कार्यवाही शुरू कर दी है शराब तस्करी माफियाओं के हौश उड़ने लगे है।koshixpress

बरामद मोबाईल का कॉल रिकॉर्ड खोलेगा राज

मंगलवार की देर रात सिमरी बख्तियारपुर रेलवे स्टेशन से बरामद विदेशी शराब की बड़ी खेप के संग तीन गिरफ्तारी के बाद इन लोगो के पास से बरामद मोबाईल का सीडीआर रिकार्ड अब इस गोरखधंधे के पीछे जो भी लोग हैं उसकी पोल खोलेगा।पुलिस सुत्रों की माने तो वैसे लोग अपनी उल्टी गिनती शुरू कर लें क्योंकि पकड़े गये तीनों शराब कारोबारियों ने पुछताछ में कई खुलासे किये हैं।

ट्रेन में रिर्जवेशन करा लाया जाता शराब

मंगलवार को शराब बरामदगी के बाद सुत्र बताते है की ट्रेनों में बकायदा रिजर्वेशन करा सामान के साथ शराब को छिपाकर लाया जाता है। ट्रेन जब सिमरी बख्तियारपुर या सहरसा पहुंचती है तो ट्रेन के पिछले बोगी से चुपचाप उतर पीछे के डिब्बे से उतर निकल चलते है साथ स्ट्रेनट्रर ट्राली बैग से किसी को अनुमान भी नही होता है की इसमें शराब भी हो सकता है जानकारी मुताबिक शराब की तस्करी में शहर की कई महिलाएं भी शामिल हैं. जो बच्चों के साथ ट्रेन में शराब से भरे बैग को लेकर सफर करती है।koshixpress

पुलिस की रडार में है कई रसूकदार

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शराब के इस खेल में शहर के कई रसूकदार माफिया शामिल हैं।हालांकि इन लोगों का पूर्व में कभी शराब से जुड़ा व्यवसाय नहीं रहा है. इसके बावजूद लालच में लोग शराब के दलदल में फंसते जा रहे हैं.सूत्रों से मिली जानकारी मुताबिक सिमरी बख्तियारपुर के कुछ बड़े व्यापारियों पर पुलिस की नजर है. इसके अलावा इन लोगों के संपर्क में और भी कई लोग हैं जो पुराने व पारंपरिक व्यवसाय को छोड़ शराब की कालाबाजारी में शामिल हो रहे हैं| मिली जानकारी के अनुसार शाम के वक्त इन लोगों के द्वारा भरोसेमंद ग्राहकों को ऑन स्पॉट डिलिवरी भी दी जाती है। कुल मिला कर पुलिस की बड़ी सफलता मानी जा रही है।