सीएम को जनता से नहीं मतलब : जन अधिकार छात्र परिषद !

3226

सहरसा :जन अधिकार छात्र परिषद के प्रखंड अध्यक्ष मुकेश कुमार ने जारी बयान में कहा कि मुख्यमंत्री को सिर्फ सत्ता से मतलब है जनता से कुछ लेना-देना नहीं है। वो पहले बेईमानी को खत्म करने का निश्चय लें।

उन्होंने कहा कि उनके द्वारा कोसी व सीमांचल के विकास के लिए माननीय सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव के दुआर संसद में मुद्दे उठाए गये जिसके बाद आयुष अस्पताल, बोट¨लग प्लांट, सौर ऊर्जा प्लांट, एम्स, सेंट्रल स्कूल, तारा स्थान, मत्स्यगंधा आदि के विकास हेतु भारत सरकार द्वारा प्रस्ताव मांगा गया। परंतु बिहार सरकार प्रस्ताव नहीं भेज रही है। ओवरब्रिज को तो इन्होंने नकार ही दिया। शिक्षा, गरीबी, स्वास्थ्य की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए इनके पास कोई योजना नहीं है। दलित, अल्पसंख्यक का सिर्फ वोट बटोरते हैं उनके लिए कोई विजन नहीं है।

सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव का हवाला देते हुए श्री मुकेश ने कहा कि दोनों भाई के कार्यकाल में कोसी में एक इंच भी रेल लाइन नहीं बिछी, मजदूरों का पलायन होता रहा। उन्होंने कहा कि इन्हें तो अब विपक्ष से डर लगने लगा है। यही कारण है कि समीक्षा बैठक में भी किसी को नहीं बुलाते हैं। निश्चय यात्रा में महागठबंधन के नेताओं व विधायक को भी अपमानित किया जा रहा है। विधायक को मंच से बोलने तक नहीं दिया जाता है। इनके नेता रघुवंश बाबू जैसे लोग को पार्टी से निकालने की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि अस्पताल में डॉक्टर नहीं है इसकी चिंता उन्हें नहीं है। क्यों सीएम के आने पर कन्या विवाह, कबीर अंत्येष्टि की राशि दी जाती है।

अगर सीएम में दम है तो समान शिक्षा व समान स्वास्थ्य की व्यवस्था करें ताकि गरीबी व अमीरी का फर्क मिट सके। उन्होंने कभी विकास, कभी विश्वास और अब निश्चय यात्रा कर ये सिर्फ पिकनिक मना रहे हैं। जीविका की दीदी को भाड़े पर प्रशासन जुटा रही है और प्रशासन भीड़ दिखाकर अपनी वाहवाही लूट रहे हैं।