नोट बंदी के बाद बैंको में घटने लगी भीड़ !

2359

सहरसा/पतरघट(बब्लू यादव) : नोटबंदी के एक माह से अधिक गुजर जाने के बाद एटीएम मे पैसे डालने से पहले की उपेक्षा अब बैंको में भीड़ सामान्य होनी लगी है हलाकि की दो दिनों से बैंक बन्द रहने से मंगलवार को भीड़ बैंको में देखी गयी फिर बुधवार को ग्रामीण बैंक पतरघट में भीड़ सामान्य तरह से थी |

हलांकि बैंक ऑफ इंडिया गोलमा शाखा में खाता धारको की संख्या अधिक रहने से और धबौली स्टेट बैंक एवं ग्रामीण बैंक पतरघट के अपेक्षा ज्यादा भीड़ थी।प्रखण्ड मुख्यालय स्थित उत्तर ग्रामीण बैंक की शाखा एवं स्टेट बैंक धवौली में अब भीड़ नहीं के बराबर रहती है।संबंधित बैंको के शाखा प्रबंधक एवं बैंक कर्मियो के सहयोग से लगातार उपभोक्ताओ को अपनी सेवा देने से अब इन बैंको में भीड़ नहीं के बराबर रहती है।

सैट्रल बैंक ऑफ इंडिया की पस्तवार शाखा के एक उपभोक्ता ने बताया सेट्रल बैंक  पस्तवार में भीड़ सामान्य नहीं हुई है।वहीं पतरघट स्टेट बैंक एटीएम से पैसा निकलने से उत्तर ग्रामीण बैंक पतरघट एवं बैंक ऑफ इंडिया गोलमा शाखा में भीड़ सामान्य हुई हैं बैंक ऑफ इंडिया गोलमा शाखा निकासी करने सुनील ने अपनी नाराजगी जाहिर व्यक्त करते हुए कह रहा था यह कितना शर्मनाक है कि लोग दौ हजार रूपये और दस हजार रूपये के लिए एटीएम और बैंक की कतार में मर रहे हैं, लेकिन बड़े और ताकतवर 60 करोड़ और 80 करोड़ लेकर बैठे हैं आखिर ये नोट कहाँ से आ रहे हैं, ये बैंक प्रबंधक के सहयोग से ऐसा सम्भव है, कुछ बैंक अधिकारी के मिलीभगत से प्रधानमंत्री जी के साहसिक कदम को धुमिल कर रहे हैं ।उनका इशारा मुम्बई और तमिलनाडु हुबाली में पकड़ाये नये नोटों के तरफ था ।