बह रही भक्ति की गंगा,सरस्वती की नृत्य रहा चर्चा का विषय !

3149
नगरह-बैसी में बह रही हैं भक्ति की गंगाkoshixpress
भागलपुर (मुकेश कुमार मिश्र) प्रसिद्ध महा श्मशानी उग्रकालिका सिद्धिशक्तिपीठ मंदिर नगरह बैसी जहाँगीर प्रागंण में आयोजित श्रीशतचंडी महायज्ञ सह श्री राम कथा को लेकर भक्ति की गंगा बह रही हैं। प्रवचन के प्रथम कड़ी में बुधवार को कथा व्यास परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने शिव पार्वती विवाह प्रसंग पर विस्तार पूर्वक से  चर्चा किए। ओर उन्होंने कहा कि शिव की महिमा अगम अपार है। भगवान शिव का नाम लेने से ही सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। हर मनुष्यों को भगवान शिव का नाम लेना चाहिए। शिव ही इस युग के सर्वश्रेष्ठ गुरु हैं। शिव पार्वती विवाह की मन मोहक झांकी चित्रण को देखकर श्रोतागण झूम उठे। स्वामी जी के अमृत वाणी का रस पान करने के लिये श्रोताओं की आपार भीड़ उमड पड़ी। वहीं रात्रि में पांच हजार से अधिक श्रोताओं ने महा प्रसाद का ग्रहण किया।आज ( गुरुवार) रात्रि में  भगवान श्रीराम विवाह प्रसंग पर स्वामी जी द्वारा विस्तार पूर्वक से चर्चा होगी।प्रवचन के साथ आकाशवाणी के मशहूर कलाकार के द्वारा भक्ति संगीत की शानदार प्रस्तुति पर श्रोतागण झूमने पर मजबूर हो जाते हैं।koshixpress
झांकी चित्रण एवं नृत्यांगना सरस्वती की नृत्य रहा चर्चा का विषय
प्रवचन के दौरान झांकी चित्रण चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं नृत्यांगना सरस्वती की नृत्य ने लोगों की जुबान पर है। आन्ध्र प्रदेश की कुचीपुडी नृत्य में सरस्वती एक अलग पहचान बना ली है। अंग की बेटी सरस्वती के परिवार पर स्वामी आगमानंद जी महाराज का आशीर्वाद प्राप्त है। वहीं उनके पिता योग प्रशिक्षक गुड्डु जी लोगों को योगाभ्यास करवा  रहे हैं। महायज्ञ में प्रवचन श्रवण के साथ लोग योगाभ्यास भी कर रहे हैं।koshixpress