सरकारी नलकूप की राशि से भर रहे निजी जेब,ग्रामीणों ने किया जाँच व कार्रवाई की मांग !

3186

खगडिया (मुकेश कुमार मिश्र) : बिहार के परवत्ता प्रखंड के खीराडीह पंचायत में एक अलग तरह का सिंचाई घोटाला होने का आरोप लगाकर ग्रामीणों ने प्रशासन से कार्रवाई की मांग किया है। पंचायत में विगत चार वर्षों से सरकारी नलकूप से सिंचाई के उपरांत किसानों से प्राप्त राजस्व को विभाग में जमा करने की बजाय निजी उपयोग का आरोप लगाया जा रहा है।

खीराडीह पंचायत के श्रीरामपुर ठुट्ठी गांव के किसानों ने इस मामले में जिला पदाधिकारी को आवेदन देकर जाँच और कार्रवाई की मांग किया है।ग्रामीण बाबू साहेब वत्स,राम बहादुर सिंह,अरुण सिंह,राहुल कुमार,रुपक कुमार,नीलू देवी, सोमू कुमार,राम किशोर सिंह,मधुर कुमार सिंह समेत डेढ दर्जन किसानों ने जिला पदाधिकारी को आवेदन देकर आरोप लगाया है कि खीराडीह पंचायत के मौजा तेमथा करारी थाना नंबर 382 में सरकारी डीजल सह विद्युत चालित सिंचाई नलकूप का परिचालन विगत चार वर्षों से हो रहा है।इस नलकूप के कमांडिंग क्षेत्र में थाना नंबर 382 तथा 381 का खेसरा सिंचित होना तय किया गया था।koshixpress

विगत चार वर्षों से इस नलकूप का निजी व्यक्ति के द्वारा परिचालन कर इससे प्राप्त राजस्व को सरकारी खाते में जमा करने की बजाय निजी उपयोग का आरोप लगाया गया है।जबकि इस नलकूप का सलाना बिल लाखों में आता है।ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया है कि इस नलकूप के संचालन के लिये एक फर्जी समिति का गठन किया गया है।इस नलकूप से सिंचाई की सुविधा देने में भेदभाव करने का आरोप भी लगाया गया है।पंचायत चुनाव में अन्य पक्ष को मत देने वाले किसानों को इस नलकूप से पानी नहीं दिये जाने की शिकायतें आम हैं ।

ग्रामीणों ने जिला पदाधिकारी से लगाई गुहार

ग्रामीणों ने डी एम के अलावा लघु सिंचाई विभाग,प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा स्थानीय विधायक को आवेदन देकर उचित कार्रवाई की मांग किया है।इस संदर्भ में वरीय पदाधिकारियों के निर्देश पर रविवार को लघु सिंचाई विभाग के कनीय अभियंता ने निरीक्षण किया। इस बारे में उन्होंने बताया कि विभाग को वस्तुस्थिति से अवगत कराया जायेगा।