इतिहास पीजी के छात्रों का विदाई समारोह,जीवन में लक्ष्य तय कर बढ़ें आगे

2768

जीवन में अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए प्रयासरत रहें: अंजुम

सहरसा:कुणाल किशोर@8709499610: पीजी सेंटर के इतिहास विभाग के पीजी सेमेस्टर फाइनल के छात्र-छात्राओं के द्वारा विदाई सह शिक्षकों का सम्मान समारोह पीजी के इतिहास विभाग के सभागार में मनाया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ० प्रो० सी पी सिंह,इतिहास विभागाध्यक्ष डॉ० इम्तियाज अंजुम,मैथली विभागाध्यक्ष डॉ० संजय कुमार मिश्रा सहित अन्य ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उदघाटन किया।इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ० इम्तियाज अंजुम के नेतृत्व में सफल विदाई सह सम्मान समारोह आयोजित किया गया।सभी अतिथियों एवं शिक्षकों को पुष्पगुच्छ,पाग एवं अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया।

अपने संबोधन में मुख्य अतिथि डॉ प्रो० सीपी सिंह ने कहा कि पीजी सेंटर मेरे अतीत से जुड़ा हुआ है और मैं चाहता हूं कि पीजी सेंटर अपने शैक्षणिक मुकाम पर पहुंचे, इसके लिए सामूहिक प्रयास की जरूरत है।

वहीं इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ० इम्तियाज अंजुम ने सभी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जीवन में अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए प्रयासरत रहें।साथ ही यंहा की यादों को अपने जीवन में संजो कर रखें एवं अपनी रुचि और क्षमता के अनुसार आप नौकरी रोजगार या स्वावलंबन हेतु कठिन मेहनत करें, परिश्रम करें और पठन-पाठन में निरंतरता लाकर एक आदर्श नागरिक बनें। उन्होंने लड़कियों से कहा, सक्षम महिला, निर्भीक महिला बनें। इसके लिए स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर निर्णय लेने वाली महिला बनें।
वही मैथली विभागाध्यक्ष डॉ संजय मिश्रा ने छात्रों को इतिहास से जुड़े कैरियर के बारे में विस्तार से बताया।

संबोधित करने वालों में डॉ अर्चना,डॉ कोमल,डॉ हर्षवर्धन,डॉ कविता झा,डॉ प्रीति गुप्ता,डॉ अनिमा,डॉ जितेंद्र झा,संजीव सिंह आदि थे।

कार्यक्रम के दौरान छात्र-छात्राओं के द्वारा आकर्षक मनमोहक रंगा रंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
संस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले कलाकार में स्वागत गीत स्नेहा सुमन,निशा कुमारी की प्रस्तुति रही।
मंच संचालन निशांत कुमार झा ने किया। 
कार्यक्रम में प्रियांशु,अजय यादव,धुर्व झा,आशीष,दिलखुश कुमार,प्रीति वर्मा,अंकिता वर्मा,अजय शर्मा,रुचि कुमारी,महबूब आलम,साक्षी कुमारी,प्रिया,स्मिता,आरती सहित पीजी इतिहास विभाग के दर्जनो छात्र छात्राओं ने समारोह को सफल बनाने में अपना योगदान दिया।