ठंड के बाबजूद बंद नही हुआ निजी विधालय !

2605

अंचल प्रशासन ने आधा दर्जन स्थानों की अलाव व्यवस्था

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर(ब्रजेश भारती) : अंचल प्रशासन ने नगर पंचायत क्षेत्र के लगभग आधा दर्जन दर्जन स्थानों पर अलाव जलाया। ठंड कौहरे व हड्डी गला देने वाले पहुआ हवा के बीच अलाव गरीबों को राहत देने का प्रयास किया।इस सम्बन्ध में अंचलाधिकारी धर्मेंद्र पंडित ने बताया कि इस समय लोग बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन सहित अन्य सार्वजनिक स्थानों पर ठंड से बेहद परेशान हैं, आम जनता को हो रही परेशानियों को दृष्टिगत रखते हुए रेलवे स्टेशन चौक,दुर्गा स्थान के निकट बस स्टैंड, शर्मा चौक, ब्लॉक चौक आदि के पास अलाव जलाने की व्यवस्था कर दी गई है। शेष कुछ और स्थानों को चिन्हित कर वहां पर भी अलाव लगाया जायेगा। इधर, आम लोगो ने बताया कि इन दिनों बैंक व एटीएम पर सुबह से लग रही लंबी लाइनों के बीच लोग ठिठुरते नजर आ रहे है, ऐसे में ठंड से राहत दिलाने के लिए अलाव की यहां पर भी व्यापक व्यवस्था की जाये|

ठंड में सतर्क रहे – स्वस्थ्य रहे

बदलते मौसम से वातावरण में नमी बढ़ने से जिले के अस्पतालों में एलर्जी, हृदय रोग व सांस के मरीजो की संख्या की बढ़ रही है.वर्तमान में दिन गर्म और रात ठंड है .चिकित्सक बताते है कि तापमान में उतार-चढ़ाव से एलर्जी, हृदय रोग, सर्दी-जुकाम व खांसी लोगो को सताने लगा है.अगर घर में छह साल से कम उम्र के बच्चे और 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग है तो उन्हें विशेष बचाव की जरूरत है.बदलता मौसम बचाव ना होने पर उन्हें कई तरह की बीमारियां दे सकता है.इसलिए शरीर को हमेशा समान वातावरण में रखे और युवा रात में निकले तो गर्म कपड़े जरूर पहने.वही बच्चे व बुजुर्ग रात व सुबह में बाहर निकलने से बचे|

निजी स्कुल बंद नहीं हुआ 

कुछ जिलों में ठंड के कारण स्कूल में अवकाश घोषित कर दिया गया है।परंतु जिले में पारा गिरने के बावजूद स्कूलों में अवकाश घोषित नहीं किया गया है।जिस कारण सुबह से ही बच्चों की टोली सड़क पर दिखने लगती है।ठंड के बढते प्रकोप के कारण अस्पतालों में ठंड से पीड़ित रोगियों की संख्या बढ़ने लगी है।वही कई अभिभावकों ने बताया की डर लगा रहता है की सुबह सुबह बच्चे विधालय जाते है कहीं ठंड की चपेट में बच्चे नही आ जाय पर क्या करें विधालय खुला है तो बच्चे को स्कुल भेजना ही पड़ेगा।