प्रसव उपरांत महिला की मौत,परिजनों ने किया हंगामा !

2492

नवजात सुरक्षित,परिजनों ने लगाया ईलाज में कोताही बरतने का आरोप

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर(ब्रजेश भारती) : अनुमंडलीय अस्पताल सिमरी बख्तियारपुर में सोमवार देर शाम एक मरीज की मौत प्रसव उपरांत हो गई। बाद में परिजनों ने जमकर हंगामा किया। वही अस्पताल प्रशासन पर ईलाज में कोताही बरतने का आरोप लगाया। घटना के संबंध में बताया जाता है की सलखुआ प्रखंड के हरेवा पंचायत स्थित कोरलाहा गांव के संतोष यादव की पत्नी ममता देवी को सोमवार दोपहर दो बजे के करीब प्रसव पीड़ा के उपरांत अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां भर्ती होने के करीब दो घंटे बाद चिकित्सक के जी हुजूरी के उपरांत मरीज को देखा गया।koshixpress

शाम 6 बजे के करीब डॉक्टर की देखरेख में प्रसव पीड़ीत महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया। उस समय जच्चा और बच्चा स्वस्थ थे लेकिन, कुछ ही देर बाद मां की स्थिति बिगड़ने लगी और काफी रक्तस्त्राव होने लगा, जो रूक नही पा रहा था। तभी चिकित्सक ने उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए सहरसा रेफर कर दिया.परंतु एम्बुलेंस की राज्यव्यापी हड़ताल की वजह से एम्बुलेंस आने में देरी हो गयी।जब तक एम्बुलेंस पहुंची और मरीज को एम्बुलेंस में डाल जाता तब तक मरीज ने दम तोड़ दिया।koshixpress

मरीज की मृत्यु के उपरांत मरीज के परिजनों ने अस्पताल के चिकित्सक पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। हंगामे पर भाजपा नप अध्यक्ष संजीव भगत, जाप नेता संजय यादव, पूर्व नप उपाध्यक्ष विकास कुमार आदि ने अस्पताल पहुंच कर आक्रोशित परिजनों को समझा-बुझा कर शांत कराया।

koshixpressइस संबंध में अस्पताल के चिकित्सक डॉ संजय रस्तोगी ने बताया कि प्रसव के उपरांत जच्चा बच्चा स्वस्थ थे परंतु अधिक रक्तस्त्राव की वजह से प्राथमिक उपचार के बाद उसे रेफर किया गया था। इसी बीच उसकी मौत हो गयी।