शराब बंदी के कारण सूबे में अपराध की घटनाओं में काफी कमी आई – मुख्यमंत्री !

2995

सहरसा : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निश्चय यात्रा के चौथे चरण में सहरसा पहुंचने के आरण गांव का दौरा किए उसके बाद सहरसा स्टेडियम में आयोजित चेतना सभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश में सबसे ज्यादा युवाओं की संख्या बिहार में है। इसलिए जब यहां के युवाओं का भविष्य उज्ज्वल होगा तभी बिहार आगे बढ़ सकता है।

उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए पूर्व में भी अनेक प्रकार की योजनाएं शुरू की गई थी। उन्होंने कहा कि बिहार के केवल 13 प्रतिशत युवा ही उच्च शिक्षा प्राप्त करने में सफल होते थे। इसलिए सात निश्चय कार्यक्रम के तहत पहले निश्चय में युवाओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मदद करने के लिए स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना बनाया गया है जिसके तहत बारहवीं पास छात्रों को चार लाख रुपये तक की राशि मिलेगी।koshixpress

वहीं 20 से 25 वर्ष तक के बेरोजगार युवाओं को रोजगार तलाशने के लिए स्वयं सहायता भत्ता योजना बनाया गया है। चेतना सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सबसे ज्यादा जोर युवाओं के शिक्षा, विकास पर केन्द्रित रहा।

सात निश्चय कार्यक्रम की चर्चा करते हुए सीएम ने कहा कि हर घर नल का जल, शौचालय निर्माण, हर घर बिजली कनेक्शन, गांव गांव पक्की गली नाली योजनाओं से बिहार का हर गांव स्मार्ट बनेगा। वहीं शराब बंदी अभियान की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि शराब बंदी के कारण सूबे में अपराध की घटनाओं में काफी कमी आई है।

उन्होंने आकड़ों के जरिए बताया कि हत्या में 24 प्रतिशत, डकैती में 26 प्रतिशत, लूट में 16 प्रतिशत, दंगा में 37 प्रतिशत की कमी आयी है। वहीं शराबबंदी के कारण दुध की बिक्री में 11 प्रतिशत, मिठाई व रसगुल्ले के बिक्री में 16 प्रतिशत, सिले सिलाई कपड़ों की बिक्री में तेजी आयी है।

उन्होंने कहा कि शराब बंदी को लेकर 21 जनवरी से 22 मार्च तक दो महीने तक अभियान चलेगा। जिसमें 21 जनवरी को शराबबंदी के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए मानव श्रृंखला का निर्माण किया जाएगा जिसमें दो करोड़ से ज्यादा लोग एक दूसरे का हाथ पकड़कर पूरे देश को संदेश देंगे। उन्होंने कहा कि अफीम बंद करने से चीन ने विकास किया और यदि भारत में शराब बंदी लागू हो गया तो भारत विकास में चीन को पीछे छोड़ देगा।