सोनम गुप्ता नहीं असली बेवफा तो बैंक और एटीएम !

3817

संजय कुमार सुमन : नोटबंदी के 25 वें दिन भी सरकार अब तक एटीएम को दुरुस्त करवाकर उसमें पैसे नहीं डलवा पाई है। बार-बार आदेश बदलने पर भी अब तक बैंकों के आगे से लाइन ख़त्म  होने का नाम नहीं ले रही है। शहरों की बात छोड़िए, कई ग्रामीण क्षेत्रों में तो अब तक कैश ही नहीं पहुंचा है। बैंक सिर्फ पैसे जमा कर रहे हैं। ऐसे में परेशान लोग कह रहे हैं कि सोनम गुप्ता नहीं असली बेवफा तो बैंक और एटीएम हैं। जिनमें से अपना ही पैसा नहीं मिल पा रहा है। जिले के कई बैंकों में पिछले चार दिनो से रुपया नही है। सुबह बैंक खुलने के पहले से लोग घर,दुकान,खेत छोड़ कर एटीएम और बैंकों के आगे लाइन लगते हैं और बैंक खुलने पर पता चलता है की बैंक में रुपये नही हैं।koshixpress

नोटबंदी के बाद सोनम गुप्ता की बेवफाई की कहानी 10 रुपये के नोट से होते हुए 2000 रुपये के नोट तक पहुंच गई। वो सोनम जिसे लोगों देखा नहीं। जबकि बैंकों और एटीएम में कैश न मिलने का कष्ट हर किसी ने झेला है और अब भी ये सिलसिला जारी है। मवेशी हटिया मालिक मनौवर आलम,किराना व्यवसायी सनौवर हुसैन  कहते हैं कि एटीएम और बैंक ही असली बेवफा हैं। इनकी बेवफाई ने तो सत्यानाश कर दिया।

मधेपुरा जिले के ज्यादातर एटीएम का शटर अभी डाउन है। कुछ एटीएम तो नोटबंदी के बाद चले ही नहीं हैं। निजी बैंकों ने जरूर थोड़ी मेहनत की है। चौसा,पुरैनी,उदाकिशुनगंज, आलमनगर,बिहारीगंज,ग्वालपाडा, कुमारखंड  की बात हो या फिर मुरलीगंज  के ग्रामीण अंचल की, लोग एटीएम न चलने से परेशानी में हैं। कई  एटीएम  में नो कैश का बोर्ड टंगा हुआ है। साथ ही जनता के साथ एटीएम के बेवफाई की सफाई भी दी गई है।koshixpress

जिले के पत्रकार आरिफ आलम,संजय कुमार,विकास कुमार,शिक्षक रेहाना खातून,उमेश प्रसाद यादव,लोजपा नेता मनौवर हुसैन  ने बताया कि एटीएम और बैंकों की.अव्यवस्था  से अब भी लोग काफी परेशान हैं। जबकि चौसा  के ग्रामीण क्षेत्रों में तो इस समय स्टेट  बैंक पैसा ही नहीं दे रहे हैं। सिर्फ जमा कर रहे हैं। उम्मीद  जताई जा रही थी कि इस सप्ताह  के अंत तक हालात काबू में आ जाएंगे लेकिन अब भी बैंकों के बाहर उनके खुलने से पहले लाइन लग रही हैं और एटीएम सूखे पड़े हैं।

चौसा स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक राजकुमार कहते हैं कि आम लोगों की परेशानी से भलीभांति हम परिचित हैं लेकिन क्या कर सकते हैं।कई दिनो से रुपया नही आ रहा है ।आता भी है तो इतना कम आता है कि दो से चार घंटे में बैंक और एटीएम खाली हो जाता है। अधिक से अधिक रुपया की माँग की गई है।रुपया आते ही एटीएम और सीएसबी को चालू किया जायेगा। आम लोग धीरज से काम लें।