तबले की थाप पर सुर बिखेरने वाला निर्मल करेगा बिहार का प्रतिनिधित्व !

3057

वैशाली में आयोजित राज्यस्तरीय युवा महोत्सव में प्रथम स्थान निर्मल ने प्राप्त किया

बचपन से ही संगीत के साथ जुड़कर निरंतर संगीत साधना करते हुए कोसी का लाल निर्मल कुमार तबला वादन के क्षेत्र में रोज नए-नए परचम लहरा रहा है |ऐसा नही है कि उसको यह प्रतिभा विरासत में मिली है |इसे पाने के लिए निर्मल को काफी संघर्षो से भरा है |प्रमंडलीय मुख्यालय सहरसा जिला अन्तर्गत कहरा प्रखंड के दिवारी पंचायत में मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे निर्मल के पिता नारायण यादव ने साधारण परिवेश में शिक्षा के साथ-साथ अपने बच्चे की विशेष अभिरुचि बन चुके संगीत की शिक्षा की भी वयवस्था किया |उम्र के साथ-साथ तबले पर उंगलियों के साथ थापों का सुर लहरिया बिखेरनी लगी |निर्मल के पिता ने उनके प्रतिभा को देखते हुए प्रशिक्षण हेतु कोसी क्षेत्र के सशक्त हस्ताक्षर प्रो० गौतम सिंह के पास तबले की शिक्षा के लिए भेजा |अपने गुरु के सानिध्य में तबले जैसी कठिन विधा हासिल करते हुए कोसी क्षेत्र के कई मंचो पर अपनी प्रस्तुती देकर लोहा मनवाया |koshixpress

निर्मल की स्कूली शिक्षा मनोहर उच्च विद्यालय से हुई,प्रेमलता अमरेंद्र मिश्र महाविद्यालय से इंटर करने के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संगीत से स्नातक किया एवं बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर करने के बाद अभी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से ही पी०एचडी० कर रहे हैं ।बाद में उन्हें विपिन किशोर श्रीवास्तव का मार्गदर्शन भी मिला |

बिहार के वैशाली में 8-10 दिसम्बर को आयोजित राज्यस्तरीय युवा महोत्सव में तबला वादन में राज्य स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया |इस अवसर पर कला एवं संस्कृति मंत्री शिवचंद्र राम द्वारा निर्मल कुमार को प्रशस्ति पत्र एवं मेमंटो प्रदान किया गया |राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में प्रथम स्थान प्राप्त करने के बाद निर्मल कुमार रोहतक में होने वाले राष्ट्रीय युवा महोत्सव में बिहार का प्रतिनिधित्व करेंगे ।

रिपोर्ट- सोमू आनंद