विख्यात कम कुख्यात ज्यादा था कोशी का कौशल !

3891

बड़े अपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर गुम होना इनकी थी बड़ी चाल

सहरसा/सिमरी बख्तियापुर (ब्रजेश भारती) : बलवाहाट ओपी के सरौंजा पंचायत के मौहनिया गांव से वुधवार को सहरसा पुलिस के हत्थें चढ़े कुख्यात कौशल यादव अपराध जगत के इतिहास में विख्यात कम कुख्यात ज्यादा था करीब तीन दर्जन से अधिक अपराघिक मामले इन पर छपरा,खगड़िया,सुपौल,मधेपुरा,सहरसा आदि जिलों में दर्ज हैं। करीब ढेर दर्जन मामले दर्ज होने पर कौशल यादव पुलिस के हत्थें चढ़ तीन चार वर्षो तक जेल की हवा काटने के बाद गत वर्ष 2015 में वे जेल से बाहर आये गत पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी रेणू देवी को मुखिया पद से चुनाव लड़ाई हलांकि चुनाव में सफलता हाथ नही लगी उनसी पत्नी मुखिया का चुनाव हार गई। चुनाव हारने के बाद एक बार फिर अपराध जगत की ओर ध्यान केन्द्रित कर एक के बाद एक घटना को अंजाम देने लगा।

कौशल के घर पर लगी लोगों की भीड़
कौशल के घर पर लगी लोगों की भीड़

राकेश सिह हत्याकांड

सोनवर्षा कचहरी थाना क्षेत्र के भरौली गावं निवासी राकेश सिह की हत्या इस वर्ष 20 जून को सदर थाना क्षेत्र के सुलिनदाबाद के समीप गोली मार कर हत्या कर दी। इस हत्याकांड में एक अपराधी शंकर साह को गिरफतार किया गया था एक आरोपी न्याायाल में आत्मसर्मपण कर दिया इस हत्याकांड के बाद पुलिस के लिये सिरदर्द बन गया था कौशल यादव।

पेट्रोल पंच लुट कांड

सौरबाजार थाना क्षेत्र के हनुमान नगर चकला के समीप गत 13 दिसंबर को पेट्रोल पंप से हथियार के बल पर करीब ढेर लाख रूपये की लुट कर सनसनी फैला दी इस बारदात में कौशल यादव सहित करीब आधा दर्जन अपराधी शामिल थें। इस घटना के बाद पुलिस इनकों टारगेट पर ले रखा था।

रिफ्युजी चैक किराना दुकान लुट

बीते दिनों सहरसा के रिफ्युजी कलोनी बेरियर के समीप किराना व्यवसायी से हथियार के बल पर गल्ला से पौने दो लाख रूपये की लुट इन्होंने अपने साथियों के साथ अंजाम दिया था। सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस घटना के सीसीटीबी फुटेज में आवाज के माध्यम से इस बात का खुलाशा हुआ था कि ये घटना कौशल यादव ने दिया था।koshixpress

सीएसपी कर्मी से लुट

सलखुआ थाना क्षेत्र के खौचरदेवा गांव से बैक आफ इंडिया के ग्राहक सेवा केन्द्र के कर्मी से हथियार के बल पर कोशी बांध के डेगराही घाट पर करीब ढाई लाख रूपये की लुट कर एक बार फिर पुंिलस को चुनौती देने का काम किया वही महिषी थाना के कोशी बांध पर एक बार फिर सीएसपी कर्मी से लुट का प्रयास गोली चला कर किया गया लेकिन असफल रहा।

अपने ही गावं मौहनिया में गोली चलाया

कुछ माह पूर्व गांव के ही दिलीप यादव के साथ आपसी बर्चस्व को लेकर दोनो में गोलीबारी हुई थी इस घटना के बाद गांव में भी वे दो गुटों में बट गया था इस कांड को लेकर बलवाहाट ओपी में मामला भी दर्ज की गई थी।

लगातार घटनाओं कों अंजाम देकर इस अपराधी की एक फितरत थी की वे घटना को अंजाम देने के बाद कुछ दिनों के लिये शहर ही नही राज्य छोड़ देता था। सौरबाजार लुट के बाद एक बार फिर वह राज्य से बाहर जाने वाला था लेकिन उससे पहले की पुलिस के हत्थे चढ़ गया । इसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस चैन की नींद सोऐगी।