DCLR पर लगा 25 हजार का जुर्माना !

3126

आरटीआई कार्यकर्ता  सरोज कुमार ने राज्य आयोग की थी अपील

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर : आरटीआई कार्यकर्ता सरोज कुमार के द्वारा मांगी गई सुचना उपलब्ध नही कराना प्रखंड के भूमि सुधार उप समाहर्ता को महगा पड़ गया। राज्य सुचना आयोग ने समय पर सुचना नही देने पर डीसीएलआर के उपर 25 हजार रूपये का अर्थ डंड लगाया है।

सुचना नही देने पर डीसीएलआर पर लगा 25 हजार का जुर्माना

इस सम्बन्ध में राज्य आयोग ने आदेश की प्रति सहरसा समाहर्ता को देते हुये लोक सुचना पदाधिकारी सह डीसीएलआर के वेतन निकासी के समय कोषागार से वेतन मद से रूपये कटौती कर आयोग को सूचित करने को कहा है।यहां बताते चले की जमीन से संबंधित दाखिल-खारिज वाद की सुचना की मांग वाद संख्या 126281/ 14/ 15 के वादी सरोज कुमार बनाम लोक सुचना पदाधिकारी सह भूमि उप समाहर्ता सिमरी बख्तियारपुर से बीते 30 जुलाई 2014 को माँगा गई थी लेकिन दो वर्ष की अवधि में डीसीएलआर ने यह कहते हुये सुचना उपलब्ध नही कराया की वादी सरोज कुमार के द्वारा मांगी गई सुचना स्पष्ट  नही है |

लेकिन राज्य आयोग ने दोनो पक्षों की दलील सुनने के बाद यह माना की सुचना पदाधिकारी सह डीसीएलआर का कथन लगत है वादी के द्वारा मांगी गई सुचना साफ तौर पर सही है जानबूझ कर सुचना उपलब्ध नही कराया गया है। यह यह भी बता दे की डीसीएलआर सह सुचना पदाधिकारी का तबादला सिमरी बख्तियारपुर से हो गया है वे वर्तमान में अधिकारी उप निदेशक सर्वेक्षण कार्यालय, गुलजारबाग में तैनात है।