बहन की डोली उठने के पूर्व ही उठ गई भाई की अर्थी !

3094

पूर्व मंत्री सह विधायक नरेंद्र नारायण यादव भी मातमपुर्सी में पहुंचे 

मधेपुरा : (संजय कुमार सुमन) : जिले के चौसा प्रखंड के मध्य विद्यालय चिरौरी के शिक्षक इम्तियाज फिरदौसी सुपुर्द ए खाक हो गये । बैजनाथपुर-मधेपुरा मार्ग पर बुधवार को सड़क हादसे में मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड के पैना गांव निवासी महरूम मोजेबुल हक के 36 वर्षीय पुत्र इम्तियाज अहमद फिरदौसी उर्फ लक्की की मौत हो गयी। जानकारी के अनुसार मृतक फिरदौसी के छोटी बहन रकशां फिरदौसी की शादी 22 नवम्बर को तय था। लक्की बहन की निकाह की तैयारी को लेकर व्यस्त थे।koshixpress

इसी क्रम में वे सहरसा जिले के अपने सगे संबंधियों को दावत देने के लिए कार्ड लेकर निकले थे कि बैजनाथपुर की ओर से एक ट्रक मधेपुरा की ओर जा रहा था कि उक्त स्थान पर बाइक व ट्रक की भिड़ंत हो गयी। इस हादसे में जहां बाइक ट्रक के अंदर चली गयी और इस पर सवार मो. नियाज ट्रक के अंदर टायर के बीच फंस गया। इस घटना में तत्काल ही उसकी मौत घटनास्थल पर हो गयी। वहीं लक्की ठोकर लगने से दूर गिर कर गंभीर रूप से घायल हुआ। लेकिन जब तक उसे अस्पताल ले जाया जाता तब तक उसके भी प्राण निकल गये।koshixpress

घटना की जानकारी होते ही मृतक के घर मातमी सन्नाटा पसर गये। परिजनों का रोते रोते बुरा हाल हो गया। पत्नी शहनाज खातून का हाल बुरा है।वो छाती पीट पीट कर कहती है ” हे अल्ला तूने क्या किया। अब किसके सहारे हम रहेंगे। छोटे छोटे बच्चे को अब कौन देखेगा।” पास में बैठा तीन साल की बेटी मोंब्बिरा खातून,आठ साल की बेटी मोजब्बिरा खातून और सात साल का एक मात्र पुत्र शाहजेब टुक टुक अपनी माँ को देखती है। कभी कभी अपनी माँ के आँखो से टपकता आँसु को पोछ देती है। यह कह कह कर बेहोश हो जाती है। माँ शिक्षिका किश्वरी सुल्ताना के चेहरे पर बेटे के खोने का ग़म साफ दिखता है। हर पहचान वाले को देखकर गले पर जाती है और फुट फुट कर रोती हुई कहती है कि “अब क्या होगा।हमारी दुनियाँ उजड़ गई । बुढापे का सहारा अल्ला ने छीन लिया । बेटी की शादी कैसे होगी।” यह कह कह कर बेहोश हो जाती है।koshixpress

लक्की की मौत की ख़बर से हर लोगों की आँखे नम है। आज गुरुवार को उसके शव को स्थानीय कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक किया गया। इस मौके पर पूर्व मंत्री सह विधायक नरेंद्र नारायण यादव,बीस सूत्री अध्यक्ष मनोज प्रसाद,थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह,जदयू नेता नरेश ठाकुर निराला,भाई जुबैर आलम,विनोद राय,याहिया सिद्दीक समेत सैकड़ों लोगों ने जनाजे में शामिल हुए। पूर्व मंत्री श्री यादव ने कहा कि मैं दुख की घड़ी में पीरीत परिवार के साथ हूँ। शीघ्र ही सरकार की ओर से मिलने वाले लाभ दिया जायेगा।