होम बिहार बैंक खुलते ही काम छोड़कर पैदल ही दौड़ पड़े लोग,कुछ नर्सिंग होम...

बैंक खुलते ही काम छोड़कर पैदल ही दौड़ पड़े लोग,कुछ नर्सिंग होम भी दे रहा सुविधा !

3627

सहरसा : गुरुवार को बैंक खुलते ही पुराने नोट जमा करने के लिए लंबी-लंबी लाइनें लग गईं |500 -1000 के नोटों की बाजार में वैल्यू खत्म होने से लोगों की भीड़ बैंकों में उमड़ रही है। सहरसा सहित कोशी क्षेत्र के लोगों के पास खुल्ले रुपए न होने के हालात यह हैं कि जहां भी बैंक ब्रांच खुले होने की जानकारी उन्हें मिली तो अपने सारे काम छोड़कर पैदल ही दौड़ पड़े … हालंकि इस दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं |koshixpress

रुपए जमा करने बदलने के लिए फार्म 

बाजार में 500,1000 रुपये के नोटों का चलन बंद होने के बाद गुरुवार को लोग सुबह से ही बैंकों में जुटने शुरू हो गए थे| सभी बैंक शाखा के खुलने के साथ ही लोग बैंकों में पहुंच गए और खाते में नोट जमा कराने सहित बदलने की होड़ लग गई |बैंकों और डाकघरों में नोट मिलने शुरू हो गए हैं |लोंगों की सुविधा के लिए बैंकों को इस सप्ताह शनिवार और रविवार को भी खुला रखा गया है|koshixpress

सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता 

बैंकों में भीड़ को देखते हुए और ग्राहकों को किसी तरह की परेशानी न हीं हो इसकी व्यवस्था बैंक ने की है। पुलिस को भी लगाया गया है कि भीड़ उग्र नहीं हो और सारा लेनदेन व्यवस्थित तरीके से हो सके |जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रो के सभी ब्रांच में सुरक्षा की व्यवस्था की गई है।

कही कही लिए जा रहे नोट

मरीजों की परेशानी को देखते हुए स्थानीय नया बाज़ार सहित अन्य निजी नर्सिंग होम सहित मेडिकल स्टोर,जाँच घरों में मरीज या मरीजो के परिजनों को सुविधा देते हुए 500,1000 का नोट लिया जा रहा है | डॉ विनय सिंह एवं राज मेडिकल के संचालक राजकुमार सिंह,दन्त रोग चिकित्सक डॉ० प्रभाकर सिंह,सोनू मेडिकल के संचालक महेश्वरी प्रसाद ने कहा की मरीजो के सुविधा के लिए नोट लिया जा रहा है |वही आरोग्य मंदिर हॉस्पिटल के चिकित्सक डॉ० अभिषेक कुणाल ने जानकारी देते हुए कहा की मरीजो के सुविधा अनुसार 500 या हजार का नोट लिया जा रहा है साथ की जो सक्षम मरीज नही है उनको मुफ्त में देखा और सलाह दिया जा रहा है |