चामरग्रहिणी यक्षिणी के 100 वर्ष होने के उपलक्ष्य में कला दिवस का आयोजन !

2412

सहरसा :स्थानीय सुपर बाज़ार प्रांगन में अवस्थित कला भवन  में चामरग्राही यक्षिणी के 100 वर्ष होने के उपलक्ष्य में कला दिवस का आयोजन किया गया |इस कार्यक्रम का उद्धाटन प्रभारी जिला पदाधिकारी सह उप विकास आयुक्त दारोगा प्रसाद यादव ने दीप प्रज्वलित कर किया। उद्धाटन समारोह को संबोधित करते हुए प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा की आज से सौ  वर्ष पहले 18 अक्टूबर 1917 को पटना स्थित दीदारगंज में चामरग्राही यक्षिणी की प्रतिमा प्राप्त हुई थी |उन्होंने चामरग्राही यक्षिणी की प्रतिमा को बिहार का धरोहर बताया।बिहार स्थापत्य कला, मूर्ति कला व चित्रकला के क्षेत्र में बहुत पहले से ही विकसित रहा है। मौर्य काल से ही बिहार कला के क्षेत्र में काफी समृद्ध रहा है।

कला दिवस के मौके पर स्कूलों के बच्चों द्वारा नृत्य कला,पेंटिंग कला,गायन कला के विभिन्न विधाओं में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। पेंटिंग प्रतियोगिता में बच्चों ने आंतकवाद,पर्यावरण व स्वच्छता विषय पर पेंटिंग बनाया।

इस मौके पर जिला कृषि पदाधिकारी नवीन कुमार,डीपीओ चंद्र प्रकाश देव,डीपीआरओ बिंदुसार मंडल, स्वरांजली के प्रो गौतम कुमार सिंह, आकशवाणी गायक अमरेन्द्र मिश्र आगा,ब्रजेश सिंह,किशोर जी सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। प्रतियोगिता के प्रतिभागियों विजेता को कप व प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।