हड़ताल पर एम्बुलेंस चालक,मरीज परेशान,बीच सड़क पर जन्म दिया बच्चे को !

3018

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर : इसे गरीबी का दंश कहें या एम्बूलेंश हड़ताल की वजह या फिर उस टेम्पू ड्राईबर कि मनमर्जी,एक गर्भवती प्रसव पीड़ीत महिला ने बीच सड़क पर ही एक बच्ची को जन्म दिया। यह वाक्या हुआ सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड मुख्यालय के मुख्य द्वार स्थित ब्लाक चौक के समीप।

koshixpress

सोमवार को जब प्रखंड के रायपुरा पंचायत निवासी सुबेदार शर्मा की पुत्रबधू सीता देवी को जैसे ही टेम्पू से उतार कर चालक निकल गया उक्त महिला ने एक बच्ची को बीच सड़क पर ही जन्म दे दिया। इस संबंध में सूबेदार शर्मा ने बताया की पुत्रबहु सीता देवी को सुबह में प्रसव पीड़ा शुरू हुई जिसके बाद एम्बुलेंस की व्यवस्था करनी शुरू की अपने परिचित को अस्पताल भेज एम्बुलेंस लाने को कहा।परिचित जब अस्पताल पहुंचा तो उसे एम्बुलेंस ड्राइवरो के हड़ताल पर होने की जानकारी मिली, जिसके बाद प्राइवेट एम्बुलेंस की खोज शुरू की परन्तु प्राइवेट एम्बुलेंस वालो द्वारा ज्यादा पैसे मांगे जाने की वजह से वह एम्बुलेंस भाड़ा पर नही ले पाये|koshixpress

तत्पश्चात उन्होने काफी विलम्ब होने की वजह से जैसे-तैसे एक टेम्पो में दर्द से कराह रही अपनी पुत्रबधू को बिठाया और अस्पताल जाने लगे इसी दौरान टेम्पो ड्राइवर ने ब्लाक चौक पहुचने पर अस्पताल जाने से इंकार कर दिया उसके बाद पुत्रबधू को वही जैसे ही उतारा वह जमीन पर प्रसव पीड़ा से लेट गई वही बच्चा का जन्म बीस मिनट के दौरान ही खुले आसमान के नीचे हो गया उसके साथ आ रही सास सखिया देवी ने वही पर बच्चे को गोद में ले मदद की मांग करने पर आसपास के कुछ महिलाये साड़ी लेकर आई। ऐसा नही है कोई उस ओर से नही गुजरा वहा आसपास का पूरा समाज मूकदर्शक बना रहा। अपनी दादी की गोद में किलकारी भड़ती उस नन्ही बेटी व मां को बाद में अनुमंडलीय अस्पताल ठेला से पहुचाया जहां दोनो स्वस्थ है।